शिव महापुराण

ताज़ा पोस्ट

श्री शिवमहापुराण तृतीयोऽध्यायः Shiv Mahapuran Third Adhyay

श्री शिवमहापुराण तृतीयोऽध्यायः चंचुलाका पापसे भय एवं संसारसे वैराग्य शौनक उवाच (शौनकजी बोले) सूत सूत महाभाग सर्वज्ञोसि महामते।त्वत्प्रसादात्‌ कृतार्थोऽहं कृतार्थोऽहं पुनः पुन: ॥ १ ॥इतिहासमिमं श्रुत्वा मनो...

श्री शिवमहापुराण द्वितीयोऽध्यायः Shiv Mahapuran Adhyay Two

शिवपुराणके श्रवणसे देवराजको शिवलोकको प्राप्ति शौनक उवाच सूत सूत महाभाग धन्यस्त्वं परमार्थवित्‌।अद्भुतेयं कथा दिव्या श्राविता कृपया हि न:॥ १ ॥अर्थ: शौनकजी बोले-हे महाभाग सूतजी। आप धन्य...

पहला अध्याय – श्री शौनक जी के प्रश्‍न करने पर सूतजीका उन्हें शिव महापुराण की महिमा का वर्णन करना – Shiv Mahapuran First Adhyay

माहात्म्य अथ प्रथमोऽध्यायः Shiv Mahapuran First Adhyay शौनकजी के साधन विषयक प्रश्‍न करने पर सूतजी का उन्हें शिवमहापुराण की महिमा को सुनाना शौनक उवाच (श्रीशौनकजी बोले) हे...

Popular

Subscribe

error: Content is protected !!